What is GST Hindi GST Bill Explained – Rate Structure of GST in India

What is GST Hindi GST Bill Explained – Rate Structure of GST in India(जीएसटी बिल क्या है समझे हिंदी में)

जीएसटी एक ऐसा कर है जो वस्तुओं और सेवाओं के ऊपर लगाया जाता है जीएसटी का पूरा नाम गुड्स एंड सर्विस टैक्स है जैसा कि आप जानते हैं टैक्स दो प्रकार के होते हैं एक प्रत्यक्ष कर और दूसरा अप्रत्यक्ष कर तो जो जीएसटी है वह अप्रत्यक्ष कर की श्रेणी में आता है जैसा कि आप जानते हैं कि हर राज्य में हरेक वस्तुओं और सेवाओं पर अलग-अलग टैक्स लगाया जाता था लेकिन जीएसटी के आने से सभी प्रकार के टैक्स पर एक ही टैक्स लगाया जाएगा जिसे हम जीएसटी कहते हैं दोस्तों जैसा कि आप समझ गए होंगे कि गुड्स एंड सर्विस टैक्स यानी कि जीएसटी एक इनडायरेक्ट यानी कि अप्रत्यक्ष कर है जीएसटी के अंतर्गत वस्तुओं और सेवाओं पर एक समान टैक्स लगाया जाएगा राज्यसभा और लोकसभा दोनों में जीएसटी बिल पास हो गया है अब 1 जुलाई 2017 से पूरे भारत में हर सामान और हर सेवा पर सिर्फ और सिर्फ एक ही टैक्स लगेगा Exide और सर्विस टैक्स जैसे करो की जगह एक सिर्फ एक ही टैक्स लगाया जाएगा ?

जीएसटी के पहले लगने वाले टैक्स ?

  1. प्रत्यक्ष कर

  2. अप्रत्यक्ष कर

प्रत्यक्ष कर-

  • Income tax
  • Wealth tax
  • Corporation tax

अप्रत्यक्ष कर –

  • service tax
  • Excise duties
  • VAT tax
  • custom duty tax
  • security tax
  • stamp duty tax
  • entertainment tax

किन उत्पादों पर लागू होगा जीएसटी(Which products will be applicable to GST)

संविधान की 122 वां संविधान संशोधन के मुताबिक जीएसटी सभी तरह की सेवाओं और वस्तुओं उत्पादों पर लागू होगा सिर्फ अल्कोहल यानी कि शराब को छोड़कर क्योंकि शराब के टैक्स के दायरे से बाहर है

जीएसटी के प्रकार(Types of GST)

  1. CGST-केंद्रीय जीएसटी यह केंद्र सरकार द्वारा लिया जाएगा |

  2. SGST (state goods and service tax) -यह टेक्स राज्य सरकार द्वारा लिया जाएगा

  3. IGST (inter state goods and service tax)

जीएसटी टैक्स रेट |


 0%,5%,12%,18%,Or 28%


इन वस्तुओं और सेवाओं को 0%  टैक्स के दायरे में रखा गया है ?

एक हजार रुपये से कम कीमत वाले होटल ,जूट, ताजा मीट, मछली, चिकन, अंडा, दूध, छाछ, दही, , ताजा फल, सब्जियां, आटा, बेसन, ब्रेड, प्रसाद, नमक, बिंदी, सिंदूर, प्राकृतिक शहद,स्टांप पेपर, मुद्रित किताबें, अखबार, चूड़ियां, हैंडलूम, अनाज, काजल, बच्चों की ड्राइंग, कलर बुक etc.

इन वस्तुओं और सेवाओं को 5%  टैक्स के दायरे में रखा गया है ?

पैक्ड फूड, 500 रुपये से कम मूल्य के जूते-चप्पल, मिल्क पाउडर, ब्रांडेड पनीर, कॉफी, चाय, मसाले, पिज्जा ब्रेड, साबूदाना, कोयला, दवाएं, काजू, किसमिस, बर्फ, बायो गैस, इंसूलीन, अगरबत्ती, पतंग, डाक टिकट etc.

इन वस्तुओं और सेवाओं को 12%  टैक्स के दायरे में रखा गया है ?

एक हजार रुपये से ऊपर के परिधान, मक्खन, चीज, घी, सॉसेज, दंत मंजन, सेलफोन, केचअप, चम्मच, कांटे, चश्मे, ताश, कैरम बोर्ड, छाता, आयर्वेदिक दवाएं, सिलाई मशीन, नमकीन, भुजिया etc.

इन वस्तुओं और सेवाओं को 18%  टैक्स के दायरे में रखा गया है ?

सबसे ज्यादा वस्तुएं इस वर्ग में रखी गई हैं। 500 रुपये से अधिक के जूते-चप्पल, सॉफ्टवेयर, बीड़ी पत्ता, सभी तरह के बिस्किट, पास्ता, कॉर्नफ्लेक्स, मिनरल वाटर, एनवेलप, नोटबुक, स्टील के सामान, कैमरा, स्पीकर, मॉनिटर, काजल पेंसिल, एलुमिनियम फॉयल etc

सेवाएं -शराब परोसने वाले एसी होटल, टेलीकॉम सेवाएं, आईटी सेवाएं, ब्रांडेड कपड़े, वित्तीय सेवाएं etc

इन वस्तुओं और सेवाओं को 28%  टैक्स के दायरे में रखा गया है ?

कोका कोला,चॉकलेट, पान मसाला,ऑटोमोबाइल्स,शैम्पू,मोटरसाइकिल,वाशिंग मशीन,पेंट,शेविंग क्रीम etc.

सेवाएं-राज्य द्वारा मान्यता प्राप्त प्राइवेट लॉटरियां, 7500 रुपये से ज्यादा कीमत वाले होटल, पांच सितारा होटल, रेस क्लब बेटिंग, सिनेमा etc.

You May Also Like

About the Author: Digital Seva

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *