Bihar wapsi registration, Bihar Mazdoor Return State Wise Registration Link | बिहार से बाहर फंसे मजदूर वापस आने के लिए ऐसे करें अपना आवेदन

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Bihar Wapsi Registration, Bihar Mazdoor Return State Wise Registration Link | बिहार मजदूर वापसी | बिहार से बाहर फंसे मजदूर वापस आने के लिए ऐसे करें अपना आवेदन

बिहार मजदूर वापसी रजिस्ट्रेशन| बिहार राज्य के मजदूर भाइयों के लिए बिहार सरकार ने बड़े घोषणा की है| अगर बिहार के मजदूर किसी भी राज्य में फंसे हुए हैं| तो उनको निकालने के लिए सरकार की मुहिम शुरू हो गई है| और वह आसानी से अब अपने राज्य वापस आ सकते हैं| ऐसे सभी लोगों को निकालने के लिए सरकार ने विशेष योजना बनाई है| जिसके द्वारा बाय बिहार के बाहर फंसे हुए लोगों को बिहार में वापस लाने की तैयारी कर रही है|

अगर आप भी एक मजदूर हैं| और बिहार से बाहर काम कर रहे हैं| तो आप Bihar Wapsi Registration ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के माध्यम से इसके लिए आवेदन कर सकते हैं| और अपने बिहार राज्य लौट कर वापस आ सकते हैं| इसका पूरा खर्चा बिहार सरकार उठा रही है |आपको एक भी रुपया देने की आवश्यकता नहीं है|

इस कोरोनावायरस के संकट में पूरा देश लॉक डाउन हो चुका है| ट्रेनों की आवाजाही पर रोक लगा दी है| कोई भी व्यक्ति अपने घर से बाहर नहीं निकल सकता है| इसी के चलते हुए बहुत से मजदूर दूसरे राज्यों में फंस गए हैं| और मैं अपने राज्य बिहार वापस लौट के नहीं आ पा रहे| इसी के चलते हुए बिहार सरकार ने इन लोगों को वापस लाने के लिए नई तैयारियां करनी है| चलिए जान लेते हैं किस प्रकार से सरकार इन लोगों को बिहार में वापस ला रही है|

इस पोस्ट में क्या है :-

3 मई से हो गया लोक डाउन का तीसरा चरण चालू|

जैसा कि आपको पता है कि इस कोरोना वायरस की महामारी का कोई भी इलाज संभव नहीं हो पाया है| और यह बीमारी तेजी से फैल रही है| इस बीमारी से 35,000 से ज्यादा लोग बीमारी से ग्रस्त हैं | और यह बीमारी दूरदराज के इलाकों में तेजी से फैलती जा रही है| इस बीमारी से बचने के लिए सरकार ने नए कदम उठा रही है| और देश में लोग जैसी स्थिति बनी हुई है|

इसी के कारण मजदूरों को खाने पीने की समस्याएं उत्पन्न हो गई है| क्योंकि जो भी उनके कारोबार थे वह सभी कारोबार को बंद कर दिया गया है| अब ऐसे मजदूरों को उनके दैनिक मजदूरी नहीं मिल रही है| इसलिए मैं अपना जीवन यापन नहीं कर पा रहे हैं| और यह मजदूर जो पहले कभी काम की तलाश में अपने राज्य से बाहर गए हुए थे यह अपने राज्य में फिर से आना चाहते हैं| और इसके लिए उन्होंने सरकार से गुहार लगाई है कि इनकी राज्य की सरकार ने फिर से अपने राज्य में बुलाने के लिए मदद करें|

बिहार राज्य के मजदूरों को वापस लाने के लिए बनाए गए हैं नोडल अधिकारी|

बिहार सरकार में फंसे हुए मजदूरों को वापस लाने के लिए नोडल अधिकारियों की टीम का गठन किया है| जोकि बिहार के प्रवासी मजदूरों को लाने में मदद करेंगे| सरकार ने इन अधिकारियों का चयन इसलिए किया है जिससे वह बाहर फंसे मजदूरों को शीघ्रता पूर्वक अपने राज्य में वापस लाने के लिए पूर्णता मदद कर सके| सरकार के द्वारा नोडल अधिकारियों को दूसरे राज्यों में तैयार कर दिया है जिससे वह अपने राज्य के नागरिकों को पंजीकृत कर के उनको अपने राज्य भेज सकें|

बिहार मजदूर वापसी नोडल हेल्पलाइन नंबर|

ऐसे मजदूर जो बिहार राज्य के बाहर फंसे हुए हैं| उनके लिए नोडल अधिकारी हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिए गए हैं| वह सभी मजदूर अपनी शिकायत को इन हेल्पलाइन नंबर पर दर्ज करा कर अपनी जानकारी को सरकार तक पहुंचा सकते हैं| जैसे कि आपको पता है कि सभी लोग इतने समझदार नहीं होते हैं |कि मैं खुद से अपना पंजीकरण कर सके| और इसके साथ-साथ सरकार ने किसी भी नागरिक को घर से बाहर निकलने की मंजूरी नहीं दी है| जिससे कि वह मजदूर किसी बाहर दुकान पर जाकर अपना Bihar Wapsi Registration करा सके|
इसके अलावा सारे कंप्यूटर की दुकानें भी बंद है और कहीं पर भी ऑनलाइन कम नहीं हो रहे हैं| इसलिए लोगों को और ज्यादा समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है| इसी को ध्यान में रखते हुए यह नोडल अधिकारियों के नंबर जारी किए गए हैं| जिससे मजदूर बड़ी ही आसानी से इन नंबर पर संपर्क करके अपनी जानकारी दे सकें| और उसके बाद या नोडल अधिकारी इन सभी मजदूरों की सहायता कर पाएंगे|

बिहार प्रवासी मजदूर वापसी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन|

जितने भी बिहार प्रवासी मजदूर बाहर फंसे हुए हैं| उनको अपना पंजीकरण कराना होगा जिससे कि सरकार उनके लिए ट्रेन में सीट बुक कर सके| इसके साथ साथ हम आप बता दे कि जितने भी मजदूर अपने राज्य में वापस आ रहे हैं| उनका शारीरिक परीक्षण किया जाएगा और अगर उन्हें किसी भी प्रकार की कोई बीमारी नहीं है और वह संक्रमित नहीं है तभी उन्हें आने की परमिशन दी जाएगी|

अगर कोई मजदूर कोरोना वायरस संक्रमित निकलता है| तो सरकार सबसे पहले उसके लिए क्वॉरेंटाइन कर देगी और उसका इलाज करेगी| जब तक वह मजदूर पूर्ण रूप से स्वस्थ नहीं हो जाता है| तब तक सरकार उसे ट्रेन में दूसरे लोगों के साथ आने की मंजूरी नहीं देगी| क्योंकि ऐसा करने से दूसरे लोगों को कोरोनावायरस रा बढ़ जाता है| इसलिए पूरी जांच के पश्चात ही आपको मजदूर के लिए चलाई गई रेल में बैठने की मंजूरी प्रदान की जाएगी|

इन सभी राज्यों में फंसे हुए हैं बिहार के प्रवासी मजदूर|

यहां पर हम आपको कुछ राज्यों की सूची बताने जा रहे हैं जहां पर बिहार के मजदूर कार्य करते थे और अब इन राज्यों में फंस कर रह गए हैं सरकार उनको इन राज्यों से निकालने के लिए वहां से स्पेशल मजदूर ट्रेन चलाने जा रही है| इस ट्रेन को आने जाने का खर्चा राज्य सरकार और केंद्र सरकार मिलकर देगी |

इन मजदूरों की सूची में निम्नलिखित राज्य शामिल हैं|

  1. दिल्ली ☑️
  2. हिमाचल प्रदेश ☑️
  3. पंजाब ☑️
  4. जम्मू ☑️
  5. कश्मीर ☑️
  6. हरियाणा ☑️
  7. राजस्थान ☑️
  8. उत्तराखंड ☑️
  9. गुजरात ☑️
  10. मध्य प्रदेश ☑️
  11. उत्तर प्रदेश☑️
  12. छत्तीसगढ़ ☑️
  13. उड़ीसा ☑️
  14. झारखंड ☑️
  15. पश्चिम बंगाल ☑️
  16. असम ☑️
  17. मेघालय ☑️
  18. नागालैंड ☑️
  19. मणिपुर ☑️
  20. त्रिपुरा ☑️
  21. मिजोरम ☑️
  22. अरुणाचल प्रदेश ☑️
  23. सिक्किम ☑️
  24. आंध्र प्रदेश☑️
  25. तेलंगाना☑️

इसके अलावा और भी कई ऐसे राज्य हैं जहां पर बिहार के मजदूर फंसे हुए हैं| बिहार सरकार जल्द ही ऐसे लोगों की जानकारी एकत्रित कर रही है| और उन सभी लोगों को बिहार में वापस लाने के लिए कार्य कर रही है|

कृपया ध्यान दें:- अगर इन राज्यों मैं बिहार के मजदूर फंसे हुए हैं तो वह नीचे बताए गए नोडल अधिकारियों के मोबाइल नंबर पर संपर्क करके अपनी जानकारी दे सकते हैं| जिससे वह अपने राज्य वापस लौट कर आ सके|

कैसे करें बिहार वापसी के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन|


जैसे कि हम आपको बता दें कि जितने भी मजदूर बिहार राज्य के किसी दूसरे राज्य में फंसे हुए हैं| उनके लिए बिहार सरकार द्वारा बनाए गए नोडल अधिकारियों को सूचित करना होगा और वहां पर अपनी जानकारी देनी होगी| इसके बाद उनको पंजीकृत किया जाएगा| नीचे हम आपको सभी नोडल अधिकारियों के नंबर देने जा रहे हैं| कृपया इन नंबर पर नोडल अधिकारी से संपर्क करें|

ध्यान दें:- जब भी आप नोडल अधिकारी को कॉल करते हैं| तो आपको नोडल अधिकारी को संपूर्ण जानकारी देनी होगी अगर आपका कॉल एक बार में नहीं लगता है तो आपको दो से तीन बार कोशिश करके इन नोडल अधिकारी के नंबर पर संपर्क करना है क्योंकि जैसे कि आपको पता है कि बहुत से लोग इस दौरान फंसे हुए हैं और वे सभी इन नंबरों पर कॉल कर रहे हैं|

तो एक बार में कॉल लगना काफी ज्यादा मुश्किल हो जाता है| इसलिए आप इन नंबरों पर कॉल करते रहें और जैसे ही आपका नंबर लग जाता है तो आप तुरंत ही नोडल अधिकारी को अपनी फंसे होने की पूरी जानकारी बता दें कि आप किस राज्य के अंदर फंसे हुए हैं|

जैसे ही आप अपनी यह जानकारी नोडल अधिकारी को प्रदान कर देते हैं तो वह आपको पंजीकृत कर लेता है और पंजीकृत करने के उपरांत आपके लिए सारी सेवाएं उपलब्ध करा देता है| और आप जिस राज्य में फंसे हुए हैं| वहां से जब भी ट्रेन निकलेगी वह आपको सूचित कर देगा और उसके साथ साथ जो भी आप वह भी बिहार सरकार द्वारा ही दिया जाएगा|

Bihar Return Registration,Book train ticket for return to Bihar

हाल ही की जानकारी के अनुसार सरकार ने कुछ और जरूरी नंबरों को शुरू किया है| जिन पर कॉल करके आप अपनी जानकारी प्रदान कर सकते हैं| बिहार सरकार ने आपदा प्रबंधन विभाग कंट्रोल नंबर भी जारी किए हैं| उसके साथ-साथ और भी लाइन नंबर जारी किए हैं| सरकार ने पूरी मदद करने के लिए कोरोनावायरस वेबसाइट भी शुरू की है| जहां पर संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी और जो भी सूचना है| वह आपको यहां पर प्रदान की जाएगी|

Bihar Mazdoor Return State Wise Registration Link |

हम आपको यहां पर राज्यों के अनुसार वेबसाइट प्रदान करने जा रहे हैं| जिन पर क्लिक करके आप बिहार वापस आने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं इन सभी वेबसाइटों की सूची हम आपको नीचे देने जा रहे हैं|

   
1 Delhi Bihar Wapsi Registration Click here
2 Hariyana Bihar Wapsi Registration Click here
3 Maharashtra Bihar Wapsi Registration Click here
4 Gujarat Bihar Wapsi Registration Click here
5 Up Bihar Wapsi Registration Click here
6 Punjab Bihar Wapsi Registration Click here
7 Karnataka Bihar Wapsi Registration Click here
8 West Bengal Bihar Wapsi Registration Click here
9 Tamilnadu Bihar Wapsi Registration Click here
10 Rajasthan Bihar Wapsi Registration Click here
11 Madhya Pradesh Bihar Wapsi Registration Click here

बिहार मजदूर बापसी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें|

  • ☑️सबसे पहले आप जिस राज्य में फंसे हुए हैं| उस की आधिकारिक वेबसाइट को खोलें जिसका लिंक आपको ऊपर दिया गया है|
  • ☑️उसके बाद वहां पर आपको बिहार मजदूर वापसी का लिंक दिखाई देगा आप उस पर क्लिक करें|
  • ☑️अब आपको यहां पर अपना मोबाइल नंबर डालकर वेरीफाई कर आना है|
  • ☑️मोबाइल नंबर सत्यापन कराने के बाद आपको यहां पर अपनी जानकारी प्रदान करनी है|
  • ☑️आवेदन में मांगी गई संपूर्ण जानकारी को भरने के बाद आवेदन को Submit कर दें|
  • ☑️सफलतापूर्वक आवेदन भरने के बाद आपका यहां पर पंजीकरण कर दिया जाएगा|

बिहार राज्य में मजदूर वापस आने के बाद मजदूर 14 दिन तक रहेगा क्वॉरेंटाइन|

बिहार सरकार के निर्देशानुसार जो भी मजदूर वापस लौट कर अपने घर आते हैं| उनके लिए 14 दिन तक अपने घर के अंदर ही रहना होगा| और मैं अपना स्वयं होम क्वॉरेंटाइन पूरा करेंगे|

बिहार सरकार के सख्त आदेश है कि किसी भी व्यक्ति को इसके लक्षण पाए जाते हैं| तो मैं 14 दिन के अंदर ही पता चल जाएगा इसलिए जितने भी मजदूर बिहार लौट कर वापस आते हैं| वह 14 दिन तक अपने घर के अंदर ही रहे किसी भी लोगों से या बाहर के किसी भी व्यक्ति से ना मिले| जिससे की एक कोरोनावायरस की चैन को बढ़ने में मदद ना मिल सके|

नोडल अधिकारी करेंगे बिहार मजदूरों की मदद|

बिहार सरकार द्वारा जितने भी नोडल अधिकारी बनाए गए हैं| यह सभी बिहार प्रवासी मजदूरों की सहायता करेंगे| इसके लिए आपको इन नोडल अधिकारियों को अपनी जानकारी बताना है| इसके बाद नोडल अधिकारी आपकी जानकारी के मुताबिक आपको बाहर निकालने का पूरा प्रबंध कर देंगे|

बिहार सरकार देगी मजदूरों को ₹500 रुपया| Bihar government will give ₹ 500 to laborers.

बिहार सरकार द्वारा बताया गया है| कि जो भी मजदूर बिहार राज्य में वापस आते हैं| सरकार उनके लिए ₹500 देगी| हाल ही में इस कोरोना वायरस के संकट में सभी मजदूरों को खाने-पीने के लाले पड़ गए हैं| इसलिए सरकार ने उनके किराए को देखते हुए और उनके सहायता के लिए पान ₹500 देने का प्रावधान किया जा रहा है| जैसा कि हम आपको बता दें कि सरकार द्वारा बताया गया है| कि किसी भी मजदूर को बिहार वापस लाने के लिए सरकार ने उनसे कोई भी कराया नहीं लिया है| उन मजदूरों का संपूर्ण कराया सरकार स्वयं रेल मंत्रालय को देगी| केंद्र सरकार पर राज्य सरकार मिलकर सभी मजदूरों का किराया रेल मंत्रालय को देंगे|

बिहार मजदूर वापसी सवाल:-

जितने भी लोगों के मन में बिहार मजदूर वापसी को लेकर सवाल आ रहे हैं| हमने उनके जवाब यहां पर देने की पूरी कोशिश की है| अगर इसके अलावा आपके मन में और कोई सवाल आते हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं|

➡️बिहार मजदूर वापसी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें|

बिहार मजदूर वापसी रजिस्ट्रेशन करने के लिए सबसे आसान तरीका है| कि आपको बिहार राज्य के नोडल अधिकारी से संपर्क करना है| जिनका मोबाइल नंबर हमने आपको ऊपर दिया है| इसके साथ-साथ आप हेल्पलाइन नंबर पर भी संपर्क करके अपनी जानकारी दर्ज करा सकते हैं| और आप अपना इस प्रकार से पंजीकरण करा सकते हैं|

➡️बिहार वापसी के लिए आप ट्रेन टिकट बुक कैसे करेंगे?

जैसा कि हम आपको बता दें कि बिहार वापसी के लिए आपको ट्रेन टिकट बुक करने की कोई भी आवश्यकता नहीं है| सरकार ने आपके लिए स्पेशल ट्रेनें चलाई हैं| और इनकी टिकट आपको तभी मिलेगी जब आप नोडल अधिकारी से संपर्क करके अपना पंजीकरण कराएंगे| जब आप का पंजीकरण बिहार वापसी के लिए हो जाएगा तब आप को सरकार की तरफ से ही ट्रेन टिकट दी जाएगी और आप आसानी से इन ट्रेन में सफर कर पाएंगे|

➡️बिहार वापसी ट्रेन टिकट लेने के लिए कितने पैसे देने होंगे?

जैसा कि हम आपको बता दें कि जितने भी मजदूर बिहार के बाहर फंसे हुए हैं| सरकार उनको बाहर लाने के लिए स्वयं तारा किराया दे रही है बिहार सरकार ने अपने राज्य के फंसे हुए मजदूरों के लिए स्पेशल ट्रेनें चलवाई हैं और उनका जो भी खर्चा है बिहार सरकार द्वारा और केंद्र सरकार द्वारा दिया जाएगा मजदूरों को इसका पैसा नहीं देना है|

➡️बिहार वापस आने के बाद क्या मजदूरों को 14 दिन का क्वॉरेंटाइन आवश्यक है?

जी हां! जितने भी मजदूर बिहार राज अपने गांव वापस आते हैं| उनके लिए कोरोनावायरस के संकट में नियमानुसार कार्यवाही करनी होगी जिससे कि ऐसी महामारी से लोग बचे रह सकें| जितने भी लोग वापस अपने गांव आते हैं| उनके लिए 14 दिन तक अपने घर पर ही रहना अनिवार्य है| वह किसी भी नए व्यक्ति से नहीं मिलेंगे|

➡️किसी भी संक्रमित या बीमार व्यक्ति को बिहार वापस आने की मंजूरी मिल सकती है?

जी नहीं सरकार पूरी जांच के अनुसार ही बिहार वापस आने की मंजूरी देती है| अगर आप कोरोनावायरस तंत्र में थे या आपको कोई और बीमारी है| तो आपके लिए सरकार मंजूरी नहीं देगी क्योंकि इसके लिए सबसे पहले आप की जांच होती है| और जांच के उपरांत ही आपको अपने राज्य वापस आने की मंजूरी प्रदान की जाती है|

➡️क्या स्टेशन पर भी जांच की जाती है?

जी हां ! जब आप अपने रेलवे स्टेशन पर आएंगे जहां से आपको ट्रेन में बैठना है| वहां पर आपकी थर्मल स्कैनिंग की जाएगी और उसके बाद ही आपको ट्रेन में बैठने की मंजूरी मिलेगी| और इसके अलावा जब आप अपने स्टेशन पर उतरेंगे तो वहां पर भी आपकी थर्मल स्कैनिंग की जाएगी इसके उपरांत ही आपको अपने गांव जाने की मंजूरी मिलेगी| अगर आप इस जांच में बीमार पाए जाते हैं तो आपको तुरंत ही क्वॉरेंटाइन कर दिया जाएगा|

➡️क्या बिना पंजीकरण किए बिहार का मजदूर वापस आ सकता है?

जी नहीं! अगर उससे अपने राज्य में वापस आना है| तो उसके लिए सबसे पहले ऊपर बताए गए अधिकारियों से संपर्क करना होगा उसके बाद वापस आने के लिए उसको अपना पंजीकरण कराना होगा और जब सरकार के नोडल अधिकारी उसकी जांच कर लेंगे तब उसको बिहार राज्य आने की परमिशन दी जाएगी|


तो प्यारे दोस्तों हम आशा करते हैं| कि आपको बिहार प्रवासी मजदूर वापसी के बारे में संपूर्ण जानकारी मिल गई होगी अगर आपके भी कोई दोस्त रिश्तेदार बिहार राज्य के बाहर फंसे हुए हैं| और उन्हें जानकारी नहीं मिल रही है तो आप इस आर्टिकल को उनके साथ शेयर कर सकते हैं| जिससे मैं भी अपना पंजीकरण करके अपने राज्य वापस आ सके|

ध्यान दें:- ऐसे ही सरकारी जानकारी के लिए और सरकार की नई नई योजनाएं का लाभ लेने के लिए आप इस वेबसाइट को सब्सक्राइब कर ले जिससे कि आपको समय-समय पर नई नई योजनाओं की जानकारी मिलती रहे|

Bihar Wapsi Registration, Bihar Mazdoor Return State Wise Registration Link | बिहार मजदूर वापसी | बिहार से बाहर फंसे मजदूर वापस आने के लिए ऐसे करें अपना आवेदन

इन्हें भी पढ़ें:-

 

FAQ?

बिहार मजदूर वापसी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

बिहार मजदूर बाप से रजिस्ट्रेशन करने के लिए सबसे आसान तरीका है| कि आपको बिहार राज्य के नोडल अधिकारी से संपर्क करना है| जिनका मोबाइल नंबर हमने आपको ऊपर दिया है| इसके साथ-साथ आप हेल्पलाइन नंबर पर भी संपर्क करके अपनी जानकारी दर्ज करा सकते हैं| और आप अपना इस प्रकार से पंजीकरण करा सकते हैं|

क्या बिना पंजीकरण किए बिहार का मजदूर वापस आ सकता है?

जी नहीं! अगर उससे अपने राज्य में वापस आना है| तो उसके लिए सबसे पहले ऊपर बताए गए अधिकारियों से संपर्क करना होगा उसके बाद वापस आने के लिए उसको अपना पंजीकरण कराना होगा और जब सरकार के नोडल अधिकारी उसकी जांच कर लेंगे तब उसको बिहार राज्य आने की परमिशन दी जाएगी|

बिहार वापस आने के बाद क्या मजदूरों को 14 दिन का क्वॉरेंटाइन आवश्यक है?

जी हां! जितने भी मजदूर बिहार राज अपने गांव वापस आते हैं| उनके लिए कोरोनावायरस के संकट में नियमानुसार कार्यवाही करनी होगी जिससे कि ऐसी महामारी से लोग बचे रह सकें| जितने भी लोग वापस अपने गांव आते हैं| उनके लिए 14 दिन तक अपने घर पर ही रहना अनिवार्य है| वह किसी भी नए व्यक्ति से नहीं मिलेंगे|

बिहार वापसी ट्रेन टिकट लेने के लिए कितने पैसे देने होंगे?

जैसा कि हम आपको बता दें कि जितने भी मजदूर बिहार के बाहर फंसे हुए हैं| सरकार उनको बाहर लाने के लिए स्वयं तारा किराया दे रही है बिहार सरकार ने अपने राज्य के फंसे हुए मजदूरों के लिए स्पेशल ट्रेनें चलवाई हैं और उनका जो भी खर्चा है बिहार सरकार द्वारा और केंद्र सरकार द्वारा दिया जाएगा मजदूरों को इसका पैसा नहीं देना है|

बिहार वापसी के लिए आप ट्रेन टिकट बुक कैसे करेंगे?

जैसा कि हम आपको बता दें कि बिहार वापसी के लिए आपको ट्रेन टिकट बुक करने की कोई भी आवश्यकता नहीं है| सरकार ने आपके लिए स्पेशल ट्रेनें चलाई हैं| और इनकी टिकट आपको तभी मिलेगी जब आप नोडल अधिकारी से संपर्क करके अपना पंजीकरण कराएंगे| जब आप का पंजीकरण बिहार वापसी के लिए हो जाएगा तब आप को सरकार की तरफ से ही ट्रेन टिकट दी जाएगी और आप आसानी से इन ट्रेन में सफर कर पाएंगे|


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment